Get absolutely free 10 Rs in your paytm wallet-all users

Paytm is back with an incredible offer get absolutely free 10 Rs in your paytm wallet the offer is available for both old as well as new users,using paytm you can easily recharge your mobile,dth,data card or pay bills,shop at paytm as well as other eCommerce sites that accept paytm wallet as a mode of payment,this offer is available only for paytm app users,using paytm app you can easily recharge ,pay bills using your paytm walllet on the go just like the website,you can also shop and pay using the app.

Using this offer you can get 10 Rs Freely in your paytm wallet use the 10 Rs in your wallet to shop as well as recharge,follow the steps below to get this.

Steps:-
To avail the offer just goto paytm app and login or signup for your account,after logging in click on the cart icon from top right > paytm cash wallet > add money and begin adding 10 Rs to your wallet,use the coupon code APP10 and complete the transaction without paying anything,you will get 10 Rs in your wallet.

image

Other details:-
1)Offer valid for both old and new users,no limitations for old users this time,
2)Applicable only for paytm app platform,web users cannot avail the offer,
3)Each user can avail this offer only once,
4)No payment info/debit card needed,just add the money and redeem the coupon,
5)valid only for a limited time and may get over soon.

Share Button

Related Posts:

23 thoughts on “Get absolutely free 10 Rs in your paytm wallet-all users

  1. RAJENDRA SAKSENA says:

    एक गरीब परिवार में एक सुन्दर सी बेटी ने जन्म लिया..

    बाप दुखी हो गया बेटा पैदा होता तो कम से कम काम में तो हाथ बटाता,,
    उसने बेटी को पाला जरूर,
    मगर दिल से नही….

    वो पढने जाती थी तो ना ही स्कूल की फीस टाइम से जमा करता,
    और ना ही कापी किताबों पर ध्यान देता था…
    अक्सर दारू पी कर घर में कोहराम मचाता था……..

    उस लडकी की मॉ बहुत अच्छी व बहुत भोली भाली थी वो अपनी बेटी को बडे लाड प्यार से रखती थी..
    वो पति से छुपा-छुपा कर बेटी की फीस जमा करती
    और कापी किताबों का खर्चा देती थी..
    अपना पेट काटकर फटे पुराने कपडे पहन कर गुजारा कर लेती थी,
    मगर बेटी का पूरा खयाल रखती थी…

    पति अक्सर घर से कई कई दिनों के लिये गायब हो जाता था.

    जितना कमाता था दारू मे ही फूक देता था…

    वक्त का पहिया घूमता गया




    बेटी धीरे-धीरे समझदार हो गयी..
    दसवीं क्लास में उसका एडमीसन होना था.
    मॉ के पास इतने पैसै ना थे जो बेटी का स्कूल में दाखिला करा पाती..
    बेटी डरडराते हुये पापा से बोली:
    पापा मैं पढना चाहती हूं मेरा हाईस्कूल में एडमीसन करा दीजिए मम्मी के पास पैसै नही है…
    बेटी की बात सुनते ही बाप आग वबूला हो गया और चिल्लाने लगा बोला: तू कितनी भी पड लिख जाये तुझे तो चौका चूल्हा ही सम्भालना है क्या करेगी तू ज्यादा पड लिख कर..

    उस दिन उसने घर में आतंक मचाया व सबको मारा पीटा

    बाप का व्यहार देखकर बेटी ने मन ही मन में सोच लिया कि अब वो आगे की पढाई नही करेगी….
    एक दिन उसकी मॉ बाजार गयी

    बेटी ने पूछा:मॉ कहॉ गयी थी
    मॉ ने उसकी बात को अनसुना करते हुये कहा :
    बेटी कल मै तेरा स्कूल में दाखिला कराउगी
    बेटी ने कहा: नही़ं मॉ मै अब नही पडूगी मेरी वजह से तुम्हे कितनी परेशानी उठानी पडती है पापा भी तुमको मारते पीटते हैं कहते कहते रोने लगी..
    मॉ ने उसे सीने से लगाते हुये कहा: बेटी मै बाजार से कुछ रुपये लेकर आयी हूं मै कराउगी तेरा दखिला..
    बेटी ने मॉ की ओर देखते हुये पूछा: मॉ तुम इतने पैसै कहॉसे लायी हो??
    मॉ ने उसकी बात को फिर अनसुना कर दिया…

    वक्त वीतता गया



    “मॉ ने जी तोड मेहनत करके बेटी को पढाया लिखाया
    बेटी ने भी मॉ की मेहनत को देखते हुये मन लगा कर दिन रात पढाई की
    और आगे बडती चली गयी…….
    “”””
    “””””””
    “”””””””””
    इधर बाप दारू पी पी कर बीमार पड गया
    डाक्टर के पास ले गये
    डाक्टर ने कहा इनको टी.बी. है
    “””
    “””””
    एक दिन तबियत ज्यादा गम्भीर होने पर बेहोशी की हालत में अस्पताल में भर्ती कराया..
    दो दिन बाद उस जबे होश आया तो डाक्टरनी का चेहरा देखकर उसके होश उड गये

    वो डाक्टरनी कोई और नही वल्कि उसकी

    अपनी बेटी थी..

    शर्म से पानी पानी बाप
    कपडे से अपना चेहरा छुपाने लगा
    और रोने लगा हाथ जोडकर बोला: बेटी मुझे माफ करना मैं तुझे समझ ना सका…

    दोस्तों बेटी आखिर बेटी होती है
    ,,,,,,,,
    बाप को रोते देखकर बेटी ने बाप को गले लगा लिया..

    “”””””
    दोस्तों गरीबी और अमीरी से कोई फर्क नहीं पडता,,
    अगर इन्सान का इरादा हो तो आसमान में भी छेद हो सकता है

    किसी ने खूब कहा //

    “कौन कहता है कि आसमान मे छेद नही हो सकता,,
    अरे एक पत्थर तो तबियत से उछालो यारों”

    “””

    एक दिन बेटी माँ से बोली: माँ तुमने मुझे आजतक नहीं बताया कि मेरे हाईस्कूल के एडमीसन के लिये पैसै कहाँ से लायी थी??

    बेटी के बार बार पूछने पर
    माँ ने जो बात बतायी
    उसे सुनकर
    बेटी की रूह काँप गयी….

    माँ ने अपने शरीर का खून बेच कर बेटी का एडमीसन कराया था….

    दोस्तों तभी तो मॉ को भगवान का दर्जा दिया गया है
    माँ जितना औलाद के लिये त्याग कर सकती है
    उतना दुनियाँ में कोई और नही..

    दो पंक्तियाँ माँ के लिये::::
    गोदी में मुझको सुलाया है माँ ने,,
    बडे प्यार से अपनी मीठी जुवॉ से,
    बेटा कह कर बुलाया है माँ ने,,
    मुझको लेके अपनी नरम बाजुओं मे,
    मोहब्बत का झूला झुलाया है माँ ने,,
    सभी जख्म अपने सीने पे लेके,
    हर चोट से बचाया है माँ ने,,
    कभी मेरे माथे पे काला टीका लगा के,
    यूं बचपन में मुझको सजाया है माँ ने,,
    यूं चेहरा दिखा के मुझे रोज अपना,
    मुझे मेरे रव से मिलाया है माँ ने,,
    ऐ इन्सॉ तू जो इतना इतरा के चलता है,
    काबिल तुझे इसके बनाया है माँ ने,,

  2. RAJENDRA SAKSENA says:

    Tum kya milley har khushi mil gayi,
    teri dosti har andhere ko ujaale mein badal gayi,
    yunhi nibhaate rehna dosti sath dena har kadam pe mera,
    teri dosti kya mili hamein toh duniya ki har cheez mil gayi…gn.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *


nine − = three

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <s> <strike> <strong>